Multimeter से Mobile Phone Parts को ठीक से Check करना सीखना क्यों जरूरी है ?



Mobile Parts को Multimeter से ठीक से Check करना क्यों जरुरी ह?
Mobile Phone Hardware Repairing में Multimeter से Parts की Faults को ठीक से Check करना क्यों जरुरी है, मोबाइल रिपेयर, मोबाइल रिपेयरिंग, मोबाइल फोन रिपेयरिंग, मोबाइल फोन हार्डवेयर रिपेयरिंग, मोबाइल फोन रिपेयर, मोबाइल फोन रिपेयर कैसे करे, मोबाइल फोन पार्टस, Mobile Repairing, Mobile Cell Phone Repair, Mobile Phone Repairing, Mobile Phone Repair Course, Mobile Repairing Course in Hindi, Mobile Repairing Tips, Mobile Repairing Latest Notes 2016

Hello Learners, मैं जानता हुँ कि आप Mobile Cell Phone की Repairing सीखना चाहते है और आप एक ऐसी Mobile Repairing Course सीखाने वाली एक Website की तलाश में है. Full Complete मोबाइल सेल फोन रिपेयरिंग Step by Step सीखने के लिए हमने एक EBook बनाया है – Advance Mobile Repairing Course Hindi (EBook) । 

आज की इस Post में मैं आपको बताने जा रहा हुँ कि Mobile Phone या Smartphone हार्डवेयर Repairing में Multimeter से Parts को ठीक से कैसे Check करे, जिससे आसानी से Mobile Phone की किसी भी Hardware Fault को Fix करके Solve और Problems का Solution किया जाए । मोबाइल सेलफोन हार्डवेयर रिपेयरिंग में All Mobile Cell Phone के Small Parts और Card Level Parts को मल्टीमीटर से Check किया जाता है । मोबाइल फोन PCB Circuit Board पर Track, Ways को भी Multimeter से Check करके पता करते है । 

मोबाइल फोन की Motherboard पर ज्यादातर Small पार्टस लगे होते है इन स्मॉल Parts में भी PF, Coil, Resistance आदि अधिक लगे होते है, Mobile Phone Logic Board पर 2 Main Section होते है Network और Power Section. आपको जानकार हैरानी होंगी कि अधिकतर Mobile Cell Phone Sets में Network Section की तुलना में Power Section बहुत बड़ा है फिर भी Mobile Phone Small Parts, Power Section के Compare में Network Section में अधिक होते है वही Power Section में Mobile फोन IC और Phone Big parts और कार्ड Level पार्टस नेटवर्क सेक्शन की तुलना में कई अधिक होते है । 

Mobile Cell Phone की Hardware Repairing में इन पार्टसो को मल्टीमीटर से ठीक से Check करना जरुरी है –
Coil
Boost Coil
Resistor
Transistor
All Types Diodes
Regulator
LED Lights
Fuse
Capacitor
Speaker (Earpiece)
Ringer (Loud Speaker)
MIC (Microphone)
Vibrator (Motor)
Antenna
Battery Connector
RTC
Keypad Buttons
Battery का Volt
Charger पर Volt
ON-OFF Switch पर Volt
Battery Connector पर Volt
और अन्य Card Level, Small और Big Parts Track Ways कनेक्शन


आप कही से भी मोबाइल फोन रिपेयरिंग कोर्स में सीखिए. जब तक आप Mobile Phone PCB Diagram द्वारा अपने स्तर पर Parts की Identification नही कर लेते, तब तक आप Hardware Faults को Solve नही कर सकते. हाँ, ये जरुर कहुँगा कि आप थोड़े से अनुभव से स्पीकर, माइक, रिंगर, Display Screen, बैटरी कनेक्टर, चार्जिंग सॉकेट, Headphone जैक आदि को Replace कर सकते है. पिछली पोस्ट में मैने बताया था कि मोबाइल रिपेयरिंग में Mobile Phone Parts की Identification, Work, Faults ठीक से जानना, सीखना क्यों जरुरी है । अगर आपने ये Article पढ़ा है तो आपने जाना होंगा कि Phone Hardware Repairing में सभी Parts की पहचान, कार्य और खराबियाँ की जानकारी होना क्यों जरुरी है । 

Multimeter से Parts को अच्छे से Check करना सीखना क्यों जरुरी है –
आजकल एनालॉग मल्टीमीटर के Place पर Digital Multimeter का उपयोग अधिक होने लगा है क्योंकि इससे मोबाइल सेलफोन रिपेयरिंग में पार्टस जॉचना बहुत ही आसान और सरल होता है, How to check parts fault using Multimeter, Multimeter se mobile phone ke parts kaise check kare

1. डीजिटल मल्टीमीटर से Parts को Check करने से पता चलता है कि Fault पार्टस की है या पार्टस Section की ।

2. Multimeter से किसी भी Parts को कैसे Check करें, इसकी जानकारी के बिना आप किसी पार्ट की Hardware Fault का एक Step भी Complete नही कर पाएँगे ।

3. Step से Step मोबाइल फोन हार्डवेयर खराबी को रिपेयर करने के लिए मल्टीमीटर की जानकारी होना बहुत जरुरी है । 

4. पार्ट को मल्टीमीटर से चैक करने के बाद ही पता चलता है कि Part को नया लगाना या नही ।

5. Multimeter से Mobile Phone Part को Check करने के बाद ही हम जान पाते है कि आगे PCB पर Fault कहाँ पर मिलेगी ।

6. दो Parts के आपसी Connection ways को Multimeter के बिना पता करना आसान नही होता है ।

7. Mobile Phone PCB पर Part के Section ट्रैक को बिना सेक्शन के सभी Parts को मल्टीमीटर से Check किए जानना बड़ा मुश्किल है कि कनेक्शन कहाँ से Broken हुआ है ।

8. All Mobile Phone Parts को Multimeter से अच्छे से Check करना नही जानने पर फॉल्ट को Fix करना बहुत जटिल कार्य बन जाता है ।

9. ज्यादातर Small Parts का Color काला होता है हम उनकी पहचान मल्टीमीटर से Check करने पर ही Confirm कर पाते है । 

10. कई Sets में Coil, Capacitor आदि अलग अलग Colour के होते है उनका भेद को Confirm करने के लिए Multimeter को उपयोग में लिया जाता है ।

11. Mobile Phone PCB Shorting में Parts की Shorting को Check करने के लिए Multimeter से ही संभव है । इसके लिए आपको अच्छे से Parts को मल्टीमीटर से चैक करना आना चाहिए । 

अत: आप यह अच्छे से जान गए है कि Mobile Cell Phone Hardware Repairing में Parts को Multimeter से Check करना ठीक से सीखना क्यों जरुरी है जिसके बिना हम किसी भी Hardware Faults और Problems को कभी भी Step से Step Solution नही कर पाएंगे । मोबाइल रिपेयरिंग कोर्स हिन्दी में सीखना बहुत ही आसान है बस आप मोबाइल फोन रिपेयर करने के इस हूनर को स्टेप बाइ स्टेप सीखते चले । Mobile Repairing Course Learn in Hindi में आज की पोस्ट आपके लिए बहुत ही उपयोगी रहे इसी मनोकामना के साथ मैं आपसे एक New Post के साथ बहुत जल्द ही फिर हाजिर होऊँगा. 

अगर आप हमारी एक भी Article को Miss नही करना चाहते है तो Free Email Subscription ले, जिसे आपको New Posts सीधे आपके Email Inbox में प्राप्त हो सकें । आप एक बात का ध्यान रखे कि अपना Email Address Submit करने के बाद अपने मेल इनबॉक्स में जाकर Feedburner के मेल को Open करके Confirm Link पर Click करके अपना Email Address को Confirm जरुर कराएँ । Confirm करने के बाद ही आपको हमारी New Posts आपके मेल इनबॉक्स में Receive होगीं । 


Mobile Repair, Mobile Repairing, Mobile Cell Repair, Mobile Cell Phone Repair, Mobile Phone, Mobile Phone Repair, Mobile Phone Repairing, Mobile Repair Course, Mobile Repair Training Course, Mobile Repair Notes in PDF, Mobile Repair Tips, Mobile Repair Course in Hindi, Mobile Repair Course Hindi PDF Book, Mobile Repair PDF Book, Mobile Repairing PDF Book, Mobile Repairing EBook, Mobile Phone Repairing Course in Hindi, Mobile Repair Tips in Hindi, Mobile Repairing Course Online in Hindi, Mobile Repairing Hindi, Mobile Repairing in Hindi, Mobile Repairing Notes in Hindi, Free Mobile Repair Course, Free Mobile Repairing Course Online in Hindi

Mobile Phone Repairing में Parts की Identification ठीक से सीखना क्यों जरुरी है?



Mobile Repairing में Parts की Identification ठीक से करना सीखना क्यों जरुरी ह?
Mobile Phone Repairing सीखना जितना आसान है उतना ही Confused करने वाला भी है यदि आप Step से Step मोबाइल रिपेयरिंग नही सीख पाते है तो इसे सीखना बहुत ही जटिल हो जाता है क्योंकि Dead Mobile Phone की Fault और Problem कई IC कें Damage होने पर भी हो सकती है CPU, Power IC, Flash IC इन तीनों IC के कार्य अलग अलग है फिर भी इनके Fault होने पर एक समान Problem क्यों होती है? ये सब जानना हमारे लिए बहुत ही जरुरी है । 

मैं यह कहना चाहता हुँ कि अगर आप Mobile Repairing Course को Continue नही Learn कर पाते है तो आगे आपको Mobile Cell Phone Repair करने में कहीं Types की Problems को Face करना पड़ता है इसलिए सबसे जरुरी Fact यह है कि आपको Cell Phone Repairing में Mobile Phone की PCB Circuit Board पर Solder हुए जितने भी सारे Parts है उन्हें अच्छे से Identification करना सीखना होंगा । ये क्यों जरुरी है यह भी जान लीजिए, किसी भी Electronic Item का Expert बनने के लिए या उसे Repair करने के लिए सबसे जरुरी क्या है ।

सबसे जरुरी है उस Item की Basic जानकारी का होना, Item कैसें बना है, कितने Parts लगे है, इन Parts के क्या कार्य है, Parts कार्य कैसे करते है, पार्टस में Fault कैसे आती है और किसी भी Faults का Solution किस प्रकार किया जाए, फॉल्टस को Solve करने के लिए जरुरी Tools कौनसे है etc. की जानकारी अवश्य होनी चाहिए ।

Mobile Cell Phone की PCB पर Parts कितने Types के होते है ये जानना बहुत जरुरी है, अगर आपको पहले से पता है तो बहुत Achhi Khabar है यदि आपको पता नही है तो एक बार फिर से जान लीजिए । किसी भी Mobile Phone, Touch Screen Phone, Smartphone, Tablet और China Mobile Cell Phone की PCB पर 3 Types के Parts लगे होते है जिनकी Pahchan, Karya और Kharabiya जानना हमारे लिए बहुत Important है इन 3 प्रकार के Parts के नाम है – (1.) Card Level Parts - कार्ड लेवल पार्टस (2.) Small Parts - छोटे पार्टस और (3.) Big Parts – बड़े पार्टस ।


मोबाइल सेलफोन रिपेयरिंग में Parts की पहचान करना ठीक से सीखना क्यों जरुरी है ?
Mobile Repairing में पार्टस की ठीक से पहचान करना सीखना बहुत ही जरुरी है इसके बिना हम किसी भी Mobile Phone की Repairing को Proper तरीके से नही सीख पाते है, अगर हम Mobile Phone PCB Diagram को अच्छी तरह से नही समझ पाते है ये Problems हमको हमेशा Face करनी होंगी – 
1. Mobile Phone की किसी Hardware Problems को स्टेप से स्टेप Solution नही कर पाते है ।


2. किसी भी Part का Jumper ways और Track को PCB पर खोजना मुश्किल हो जाता है ।

3. Part की पहचान, कार्य और Fault को जाने बिना आप PCB Diagram को नही समझ पाते है ।

4. Dead और Shorting जैसी Mobile Cell Phone की Problems को Solution करना कठिन हो जाएगा ।

5. PCB पर लगभग कई Small Parts काले Color के होते है जिनकी पहचान जाने बिना आप कोई भी Hardware Faults को Solve नही कर पाएंगे ।

6. किसी भी IC में भेद कर पाना आसान नही होता है । 

7. सभी Parts के कार्य क्या है ये जान नही पाते है ।

8. पार्टसो को Multimeter से चैक भी नही कर पाएंगे क्योंकि आपको किसी भी पार्ट की सही पहचान ज्ञात नही है ।

9. 3 Types के Parts में Difference करना मुश्किल होता है ।

तो अब आप समझ गए है कि Parts की Identification करना सीखना क्यों जरुरी है भले ही आपको किसी Website पर सभी Hardware Faults और Problems का Step से Step Solution भी मिल जाए, But अगर आप Professional Mobile Cell Phone Repair Technician बनना चाहते है या Mobile Repairing को अपना पेशा बनाना चाहते है तो तो आप Mobile Repair Training Course को 0 से शुरु करे ना कि 99 से । 

मेरा मतलब है कि आप सबसे पहले Mobile Phone की Mother Board यानि PCB Circuit बोर्ड को अच्छे से जाने पहचाने यानि Small, Big और Card Level पार्टसो की Mobile Phone PCB पर पहचान (Identification), कार्य (Work), खराबियाँ (Faults) और मल्टीमीटर (MultiMeter) से Check करना आदि आना चाहिए तब जाकर ही आप किसी Mobile Phone की हार्डवेयर फॉल्ट को Repair करने का Process समझ पाते है ।

EBook और Book में Difference क्या है ? Mobile Repairing सीखने के लिए कौन Best है ।



Mobile Repairing Course ऑनलाइन Hindi में सीखे!

EBook और Book दोनो में क्या Difference ?
Hello Learners, मोबाइल फोन रिपेयरिंग कोर्स Online Hindi में सीखना बहुत आसान है, इसके लिए हमने एक Mobile Repairing Course की PDF Book (EBook) को भी launch किया है उस मोबाइल रिपेयरिंग कोर्स PDF बुक का नाम Advance Mobile Repairing Course Hindi EBook है । अब तक इस ई-बुक से 1000+ से अधिक लोंगो ने Mobile Repairing सीखा है और सभी नें इस बहुत सराहा है क्योंकि Market के अन्दर Complete Full Mobile Phone Repairing Course की कोई Book वर्तमान में मौजुद नही है । 


मोबाइल फोन रिपेयर की इस EBook में हमनें Mobile Repair Training Institute से कई गुना अधिक कोर्स को Include किया है ताकि कोई भी Financial के अभाव में भी आसानी से Mobile Repair Training Course को सीख सके । सबसे खास बात यह है कि इस EBook में मौजुद Mobile Phone Repair कंटेट से कई कम सीखाकर भी Institutes लगभग 8 से 15 हजार रुपए फीस के वसुल के लेते है । जबकि इतनी Money को आप Save करके Mobile Phone Repairing के लिए एक Good Quality के सारे Tools और Equipments को Buy कर सकते है । 


हमारे बहुत सारे Customers से हमें यह भी जानने को मिला कि ‘EBook में जितना Mobile Repairing Training Course सीखाने के लिए दिया गया है उसके Compare में EBook की Price बहुत ही कम है, लेकिन फिर भी हमारे सामने एक Problem है वो Problem यह है कि Mobi Tech Career के कई नए Readers जो पहली बार Website को Visit करते है और उन्हें जब Advance Mobile Phone Repairing Course Hindi PDF Book के बारें पता चलता है तो वो हमसें Contact करते है और बहुत सारें Readers का एक ही सवाल होता है कि ‘Advance Mobile Repairing Course Book को ‘Courier’ या ‘Postal’ द्वारा अपने Home पर कैसे मंगवा सकते है और इसमें ‘Cash On Delivery’ का विकल्प मिलेगा क्या’. 


अब आप समझ गए होंगे कि मैं आपसे क्या Share करना या बताना चाहता हूँ, हमारें देश India में भले ही आज Daily नए नए Smartphone के Brands या Model बाजार में आ रहे है, लेकिन इस Smart और Digital Technology के Time में भी हमारे देश के कहीं Students को EBook के बारें में कुछ भी पता नही है, ई-बुककहते किसे है । जो लोग Internet को बहुत Time से Use कर रहे है उन्हें भी EBook के बारें में थोड़ा बहुत पता होता है । लेकिन शायद आप यह जानते होंगे कि आने वाले Time में Schools और Collages की Books भी Digital होंगी यानि EBook में होगी. आपका बच्चा School जाएगा तो उसे बहुत भारी Bag का बोझ उठाकर साथ ले जाने की कोई जरुरत नही, इसके साथ ही आपका Time और Money की भी बचत होंगी ।


EBook क्या ह?
EBook एक Electronic Book होती है जो एक प्रकार के Soft Format (PDF, ePub और Other Format) मे होती है जिसे Mobile Phones, Smartphones, Tablets, Netbooks, Notebooks, Laptops और Computer पर आराम से पढ़ा जा सकता है, अगर EBook पीडीएफ (PDF- Portable Document Format) में होती है आपको अपने Device में PDF Reader को Install करना पड़ता है, लेकिन मोबाइल फोन, स्मार्टफोन, टैबलेट, लैपटॉप और पीसी में पहले से ही पीडीएफ Reader सॉफ्टवेयर Install किया होता है । Amazon ने Kindle को Development किया जिस पर आप हजारों Books पढ़ सकते है । इसके लिए आपको अलग से Software Install करना पड़ता है । 


अगर नही भी है तो आप इन्टरनेट पर Free में कई PDF रीडर सॉफ्टवेयर Download कर सकते है. मान लिजिए आप अपने Windows ऑपरेटिंग सिस्टम वाले कम्प्युटर के लिए आपको pdf reader software download करना चाहते है तो Google Search Box में जाकर इस तरह से Keyword Type करना होंगा ‘windows pdf reader free download’, अब आप कोई भी अपनी रुची के अनुसार किसी एक website पर जाकर अपनी पंसद का PDF Reader Application को Download कर ले, ज्यादातर लोग Adobe PDF Reader और Foxit PDF Reader को Use मे लेते है । इसी तरह आप अपने Android, iPhone, Windows और अन्य OS Device के लिए Apps को google search में type करके download कर सकते है । 

 
EBook और Book में Difference क्या ह?
इन दोनो के बीच में Difference को जानने के लिए हम Email और डाक Post के Example के माध्यम से समझेंगे, Email एक इलेक्ट्रॉनिक Mail होती है जिसे हम बहुत ही fast और easy से किसी भी user को उसके mail address पर सैकेण्ड से भी कम time में अपने मोबाइल फोन, स्मार्टफोन, टैबलेट, लैपटॉप और पीसी से mail भेज सकते है जबकि डाक Post भेजने के लिए हमें कागज के एक Letter को use करके लिखना होगा फिर उसे Post Office या डाक Box में डालकर आना होगा फिर वो 5-7 दिनों या location की दुरी के अनुसार पहुँचेगा. 


ठीक इसी प्रकार से EBook एक इलेक्ट्रॉनिक बुक होती है जो soft copy होती है हम इसे बहुत ही तेजी और आसानी से अपने किसी भी Device पर Download करके तुरन्त पढ़ सकते है जबकि कागज पर छपे Text Book एक प्रकार की Hard Copy होती है जिसे डाक Post की तरह पाने में काफी Money और Time को Spend करना पड़ता है । 


EBook को लिखने और पढ़ने के लिए Electronics Devices को उपयोग में लिया जाता है जबकि Book को लिखने और Print करने के लिए Electronic Device को Use करते है लेकिन Book को पढ़ने के लिए कागज का Use किया जाता है । क्योकिं किसी भी बुक का Content कागज पर छपा होता है । अगर हम EBook का Print Out कागज पर छाप देते है तो वो Book बन जाती है ।  लेकिन बुक अक्सर खर्चीला और समय गवाँने वाला होता है, कागज से बनी किसी भी बुक के Compare में ई-बुक बहुत सस्ती होती है ।

अत: आशा करता हुँ कि आप EBook औऱ Book के Difference को समझ गए होंगे. आखिर में मैं यह कहना चाहुँगा कि आने वाले Future में EBook आपके लिए काफी उपयोगी साबित होंगी. क्योंकि आज जिस तरह से Competition Exams में EBook की उपयोगिता कई गुना बढ़ी है तो इससे साफ जाहिर होता है कि आने वाला समय Digital होंगा. जब सवाल Mobile Repairing EBook का हो तो एक Mobile Repairing Book से कई गुना अधिक मोबाइल रिपेयरिंग सीखना हो तो वो EBook सिखा सकती है । 

Speaker (Earpiece) को MultiMeter से Kaise Check करें



Mobile Repairing में Speaker को Multimeter से कैसे Check करें
Hello दोस्तो, पिछले बहुत समय से कोई अच्छी Posts नही लिखने के लिए मुझे बहुत खेद है. लेकिन अब में Regularly कुछ न कुछ जरुर लिखुँगा और आज की Post में How to check speaker with Multimeter in Mobile Repairing के बारें में बताने जा रहा हुँ. इसके लिए आपके पास Multimeter का होना बहुत जरुरी है. अगर मल्टीमीटर नही है तो आज ही Buy कर ले. फिर आपCheck Speaker to Multimeter in Hindi की इस Post को आराम से Practically सीख पायेंगे. स्पीकर को मल्टीमीटर को क्यों और कैसे चैक करते है इसके बारें में बहुत ही अच्छे तरीके से आपको बतानें की कोशिश करुँगा.

Speaker (Earpiece) को Multimeter से क्यों Check करते है ?
Speaker Hardware Problems और Faults को Fix करने के लिए Speaker को मल्टीमीटर से चैक किया जाता है, Mobile Phone और Smartphones में Speaker से Related कहींproblems और Faults आती है जिसका पता करने के लिए स्पीकर को Digital Multimeter से Check करते है और Mobile Phone PCB Board पर Speaker की Fault को ढुँढना बहुत आसान हो जाता है. मोबाइल फोन में स्पीकर की कौनसी Faults में स्पीकर को मल्टीमीटर से चैक करने की जरूरत पड़ती है, Call के दौरान स्पीकर की ये problems अक्सर आती है -
1. Speaker not working problem (स्पीकर से आवाज नही आने की समस्या)
2. Speaker less sound problem (स्पीकर से आवाज धीरे आने की समस्या)
3. Speaker sound not clear problem (स्पीकर से आवाज साफ नही आने की समस्या)

इन Speaker problems को Solve और Fix करने के लिए Speaker को मल्टीमीटर से चैक करेंगे. इन सभी Problems में speaker को मल्टीमीटर से इसलिए Check करते है किSpeaker सही है या Faulty. अगर स्पीकर Faulty होगा तो स्पीकर को Change करना होगा. यदि स्पीकर Faulty नही है तो Mobile phone PCB Circuit Board पर स्पीकर Section मेंtrack ways को Check करेंगे और Fault है तो Jumper बनायेंगे.

Multimeter से Speaker को कैसे Check करें
Speaker सही है या खराब, Mobile repair करते समय यह पता करने के लिए आपको स्पीकर को मल्टीमीटर से Check करना होंगा 

1. मोबाइल फोन को Open करके जरूरी पुर्जे अलग करें और PCB को बाहर निकालें, अब यहाँ आपको यह पता करना है कि Speaker मोबाइल फोन PCB पर कैसे जुड़ा है, आमतौर परSpeaker पीसीबी बोर्ड पर दो तरीके से जुड़ता है 1. PCB पर बने स्पीकर टच पॉइंट, 2. स्पीकर के दोनो Pins मोबाइल फोन PCB पर वायर के माध्यम से Solder होतें है. जो भी हो आपकोSpeaker को PCB से अलग करना है.

2. Digital Multimeter को बज़र Mode पर Set करके रखें, अगर आपको नही पता है कि मल्टीमीटर बज़र point पर set य़ा नही तो मैं आपको बता देना चाहता हुँ कि इसका पता करने का बहुत ही Simple तरीका है कि आप दोनो Probes – Red और Black के अगले नुकीले बिटस को आपस में टच कराए, अगर Beep की Sound आती है तो जनाब आपने मल्टीमीटर को बज़र मोड पर set कर रखा है. मल्टीमीटर के बज़र point पर diode और beep का भी Symbol लगा रहता है. जिसे आप आसानी से Identification कर सकते है.


3. Speaker को मल्टीमीटर से Check करने के लिए Multimeter की दोनो Probes – Red और Black को Speaker के क्रमश: पहली और दुसरी Pins पर रखे. अब अगर Speaker सही है तो Beep की आवाज आयेगी. अगर बीप की आवाज नही आती है तो Speaker Faulty है उसे Change करके, Faults को Solve करें. अगर बीप की Sound आने और स्पीकर के सही होने की स्थिति में Fault को Solve करने के लिए Speaker faults and problems solution की पोस्ट पढ़ें.

स्पीकर (Earpiece) को बिना (Without) मल्टीमीटर Use किए कैसे Check करें
अगर आपके पास मल्टीमीटर नही है तो भी आप स्पीकर की Fault है या नही, ये आसानी से पता कर सकते है. इसके लिए आपके पास Same Model का Mobile phone होना चाहिए. मान लिजिए आपके Nokia 1600 Mobile Phone Speaker में Problems है call के दौरान आपको सामने वाले person की sound सुनाई नही दे रही है या बहुत कम और धीरे या सुनाई दे रही है या फिर आवाज साफ सुनाई नही दे रही है. तो Speaker को without Multimeter Check करने के लिए आपके पास कोई दुसरा Nokia 1600 Mobile Phone होना चाहिए.
1. जिस Mobile Cell Phone में Speaker Working नही कर रहा है उस फोन से Speaker को Carefully बाहर निकालें.

2. अब उस Speaker को Same model में लगाकर देखें वो work कर रहा है या नही. पता करने के लिए उस मोबाइल फोन से एक क़ल करे और कानो के पास लगाकर Sound को सुने, सुनाई दे रही है या नही. यदि कार्य कर रहा है तो खराबी Mobile Phone PCB में है. स्पीकर track ways को Check करके इस Fault को Solve कर सकते है । अगर यदि Speakerउसी फोन के Same Model में भी कार्य नही कर रहा है तो स्पीकर खराब है आप स्पीकर को नया लगाकर खराबी को ठीक कर सकते है.

  
I Hope कि यह Post आपको अच्छी लगी होंगी तो इसे अपनी Social Sites पर बनी Profile पर Share जरूर करें. बस ज्यादा नही केवल 5 Second लगेंगे. आप Facebook दोस्तों के साथ इस जानकारी को जरूर करें. यदि आप Mobile Repairing, Smartphone से Related कोई भी Article हमारें साथ Mobi Tech Career पर Share करना चाहते है तो Please उसे अपने नाम के साथ mobitechcareer@gmail.com पर भेंजे. पंसद आने पर हम आपके नाम के साथ अगली Post में Publish करेंगे. आप अपना कोई सुझाव हमें Mail करके भेज सकते है.
Mobile repairing, Course, PDF Book, Online Free Download, Tutorials, Tips, Tricks, Software Problems, Hardware Faults Solution, EBooks, Books, Repairing Tools, in Hindi, Full Guide, Complete Course, Advance Mobile repairing, Jumper ways solution, smartphone repairing tips