मोबाइल फोन रिपेयरिंग किससे से सीखें - Book या Institute में से कौन Best है



सीखने वाले Book से भी सीख सकते है वरना Institute से भी नही सीख पाते
जिसमे लगन है धैर्य और आत्मविश्वास हो, वो किसी के माध्यम से मोबाइल रिपेयर सीख सकते है जिसमें कुछ करने की ख्वाहिशें ही नही हो वो Institute से सीखकर भी कुछ अच्छा नही कर पाते । बहाना बनाते रहते है कि Institute ने अच्छा नही सीखाया । प्रैक्टिकली बहुत कम सीखाया । और एक तरफ ऐसे भी जिन्होनें कभी इंस्टीटयुट भी नही देखा और बुक, इन्टरनेट, मोबाइल रिपेयर शॉप से मोबाइल रिपेयरिंग सीखकर कामयाबी की बुलंदियों पर पहुँच गए । हमेशा सीखते रहना ही आपको कामयाब बनाता है अगर आप सीखने की बजाय सोचते रहते है तो आपको कुछ हासिल नही होंगा । हमेशा सीखते रहने वालों के लिए Book और Institute दोनों ही Best है । दोनो का एक ही कार्य है आपको मोबाइल रिपेयरिंग सीखाना । प्रैक्टिकल ज्ञान आप स्वयं द्वारा अभ्यास करके ही प्राप्त कर सकते है । क्योंकि अभ्यास एक लंबी प्रक्रिया है इसको हासिल करने में समय लगता है  

व्यावहारिक अनुभव कामयाबी दिलाता है
आप अपने बारें में अपने मन से क्या सोचतें है और क्या करने को बोलते है वैंसा ही आपका व्यवहार बन जाता है । मोबाइल रिपेयरिंग कैसे भी सीखों वो ज्यादा महत्वपुर्ण नही है महत्वपुर्ण यह है कि आप कितना अच्छे से जानते है और आपका व्यावहारिक Experience कैसा है । और व्यावहारिक अनुभव तब आएगा जब आप स्वयं किसी कार्य को सफलतापुर्वक कर लेते है । 


एक माह में पुर्ण मोबाइल रिपेयरिंग सीखना आसान नही, ऐसी संस्थाओ से बचें
बहुत सारे हमें मेल प्राप्त होते है जिनमें ज्यादातर लोग किसी संस्था से सीखें हुए होते है पर उनको अनुभव नही मिल पाता । क्योंकि संस्था में एक बार आपको प्रैक्टिकल बता दिया जाता है और समझा में नही आता है तो एक दो बार दोबारा समझाया जाता है पर यकीकत यह है कि उन्हें समझाए गए विषय में केवल 20% ही समझ में आता है, कहीं संस्थायें एक महीने के कोर्स में छात्रों को कुछ अच्छे से नही सीखा पाती है । जब तक उसे कुछ कुछ समझ में आने लगता है तो तब तक तो कोर्स ही पुर्ण हो जाता है और सर्टिफिकेट हाथों में थमा दिया जाता है । अनुभव वही मिला, Confidence नही आया, धन भी गया, केवल सर्टिफिकेट किस काम का । 

कुछ लोग केवल Loan के चक्कर में सर्टिफिकेट के लिए कोर्स कर लेते है पर बहु कम लोग ही जानते है कि Loan बहुत कम लोगो को ही मिल पाता है । इसिलिए हमेशा ऐसे ट्रैनिंग संस्था से कोर्स करना चाहिए जो आपको कम से कम 3-6 माह तक कोर्स सीखाते हो । कोर्स को आसानी से समझने के लिए आप मोबाइल रिपेयरिंग बुक खरीद लें और उन्हें पढते रहने से आपको आसानी से समझ में आता रहेंगा । मोबाइल रिपेयरिंग बुक केवल घर बैठे कोर्स सीखने वालों के लिए नही बल्कि संस्था से सीखने वालों के लिए भी बहुत ही उपयोगी होती है ।

All Lessons - Choose & Learn